PM के सामने CM का दावा, सितम्बर तक हरियाणा होगा खुले में शौचमुक्त

0
118

मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि हरियाणा जून माह तक ग्रामीण क्षेत्रों को व सितम्बर माह तक सभी शहरों को खुले में शौच-मुक्त बनाने के लिए पूरी तरह से तैयार है। यह पंचायतों, गैर-सरकारी संगठनों तथा धार्मिक, सामाजिक व राजनीतिक नेतृत्व को मिलाकर एक मजबूत सामुदायिक आंदोलन खड़ा करने के कारण संभव हो पाया है। राज्य सरकार ने 10,000 से अधिक आबादी वाले गांवों जोकि निकट भविष्य में कस्बे बनने की क्षमता रखते हैं, में सीवरेज ट्रीटमैंट प्लांट स्थापित करने का भी निर्णय लिया है। मुख्यमंत्री ने नई दिल्ली में नीति आयोग की गवर्निंग काऊंसिल की तीसरी बैठक को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि हरियाणा स्वच्छ भारत मिशन के लक्ष्यों को हासिल करने के लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध है। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने  वर्ष 2016-17 में संबंधित विभागों तथा हरियाणा कौशल विकास मिशन द्वारा 69 हजार युवाओं को विभिन्न क्षेत्रों में प्रशिक्षण दिया गया। वर्ष 2017-18 के दौरान 1.33 लाख युवाओं को प्रशिक्षित करने का लक्ष्य है।

राज्य सरकार ने एक अधिनियम द्वारा हरियाणा विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय की स्थापना की है। यह विश्वविद्यालय देश में अपनी तरह का एक अद्वितीय विश्वविद्यालय है, जो प्रमाण-पत्र से लेकर डॉक्टरेट स्तर तक कौशल शिक्षा प्रदान करेगा। उन्होंने कहा कि हरियाणा जी.एस.टी. के प्रभावी क्रियान्वयन के लिए पूरी तरह से तैयार हैं। इसके लिए हरियाणा विधानसभा में 4 मई को एस.जी.एस.टी. विधेयक पारित किया जाएगा। प्रदेश सरकार ने राज्य का विजन 2030 दस्तावेज तैयार करने की प्रक्रिया भी पूरी कर ली है व इसका शीघ्र लोकार्पण किया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)