स्वामी नितानंद की वाणी होगी स्कूली पाठ्यक्रम में शामिल-रामबिलास शर्मा

0
120

बेरी (झज्जर) हरियाणा के शिक्षा, पर्यटन एवं संसदीय मामलों के मंत्री Screenshot_2017-08-24-10-09-28-1रामबिलास शर्मा ने कहा कि स्वामी नितानंद की वाणी व जीवन चरित्र को हरियाणा के स्कूली शिक्षा पाठ्यक्रम में जोड़ा जाएगा। उन्होंने मंगलवार को गांव माजरा (डी) स्थित जटेला धाम में स्वामी नितानंद जी महाराज के निर्वाण दिवस पर आयोजित सतसंग के दौरान उपस्थित श्रद्धालुओं व आस-पास से आए गणमान्य लोगों को संबोधित करते हुए यह घोषणा की। शिक्षा मंत्री ने जटेला धाम पहुंचकर स्वामी नितानंद की समाधि पर माथा टेककर पूजा अर्चना की और महंत स्वामी राजेंद्र दास से आशीर्वाद भी लिया।
Screenshot_2017-08-24-10-09-35-1उन्होंने अपने संबोधन के दौरान कहा कि स्वामी नितानंद की इस तपोभूमि के प्रति उनकी प्रगाढ़ श्रद्धा है और इस धाम से उनका पुराना जुड़ाव है। उन्होंने इस दौरान जटेला धाम से जुड़ी अपनी पुरानी यादें भी लोगों के साथ सांझा की। धार्मिक मान्यताओं से संबंधित स्थलों से लोगों की आस्थाएं जुड़ी होगी। गाय, पीपल व तुलसी के पौधे में सृष्टि का कल्याण निहित है।
उन्होंने कहा कि आक्सीजन के प्रवाह में इनका बड़ा योगदान है। उन्होंने इस दौरान विभिन्न उदाहरण रखते हुए मानवीय मूल्यों का वर्णन भी किया। उन्होंने स्वामी नितानंद की वाणी में मानव कल्याण से जुड़ी अनेक बातें हम सबको अपने जीवन में अपनानी चाहिए।
शिक्षा मंत्री ने कहा कि भारतीय संस्कृति को बढ़ावा देने के लिए हरियाणा सरकार ने अनेक कार्यक्रम चलाए है। सूर्य कवि पंडित लखमी चंद के नाम पर भी संस्कृत विवि खोला जाएगा। निर्वाण दिवस के अवसर पर आयोजित सतसंग कार्यक्रम में पहुंचने पर जटेला धाम की ओर से उन्हें स्वामी नितानंद की प्रतिमा व ग्रंथ भी भेंट किए गए।
इस अवसर पर शिक्षा मंत्री अपने ऐच्छिक कोष से जटेला धाम के लिए 11 लाख रुपए देने की भी घोषणा की। इस दौरान उन्होंने जटेला धाम परिसर में पौधरोपण भी किया और प्रसाद भी ग्रहण किया। उल्लेखनीय है कि माजरा (डी) स्वामी नितानंद महाराज का आश्रम है। जोकि देशभर में तपोभूमि जटेला धाम के नाम पर प्रसिद्ध है। इस धाम के प्रति आस-पास के क्षेत्र में लोगों की बड़ी आस्था है।
इस अवसर पर भाजपा के जिलाध्यक्ष बिजेंद्र दलाल, हरियाणा एग्रो कॉरर्पोरेशन निगम के चेयरमैन गोविंद भारद्वाज, दिव्यांग आयोग के आयुक्त दिनेश शास्त्री, नैफेड के चेयरमैन अशोक ठाकुर, हरियाणा ग्रंथ अकादमी के चेयरमैन वीरेंद्र चौहान, आनंद दहिया, मार्केट कमेटी बेरी के चेयरमैन मनीष शर्मा, डा. रमेश कलकल, डा. किरण कलकल, राजेंद्र शर्मा, अनिल मातनहेल, दिनेश गोयल, सुनीता चौहान, कमलेश अत्री, सुभाष शर्मा सहित अनेक गणमान्य व्यक्ति भी मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)