पेट्रोल-डीजल, रियल स्टेट… जानिए- अपनी जेब पर असर, आज से क्या कुछ बदलेंगे*

0
109

पेट्रोल-डीजल, रियल स्टेट… जानिए- अपनी जेब पर असर, आज से क्या कुछ बदलेंगे*

आज का दिन देश की जनता के लिए अहम है, क्योंकि आज से आपको कई बड़े बदलाव देखने को मिलेंगे. पेट्रोल-डीजल के दामों से लेकर लाल बत्ती के इस्तेमाल और रियल स्टेट में आज से बड़े बदलाव होने जा रहे हैं. ये बदलाव आम जन की सुविधाओं को देखते हुए लागू किए जा रहे हैं. इन बदलावों से आपकी रोजमर्रा की जिंदगी पर काफी असर पड़ सकता है.

*वादे पर नहीं दिए फ्लैट को बिल्डर को मिलेगी 3 से 5 साल की जेल, आज से RERA कानून लागू*

*आज से रोजाना तय होंगे पेट्रोल-डीजल के दाम*

आज से पेट्रोल-डीजल के दाम रोजाना तय होंगे. शुरुआत में पांच शहरों में पेट्रोल-डीजल के दाम तय होंगे. पुद्चेरी, विशाखापटनम, उदयपुर, जमशेदपुर और चंडीगढ़ में रोजाना पेट्रोल-डीजल के दाम तय होंगे.

पेट्रोल 1 पैसे और डीजल 44 महंगा हुआ, बढ़ी हुई कीमतें रविवार रात से लागू

इस योजना के लिए एक पायलट प्रोजेक्ट बनाया गया है, जिसे आज से देश के पांच शहरों पुद्चेरी, विशाखापटनम, उदयपुर, जमशेदपुर और चंडीगढ़ में लागू कर दिया जाएगा.

*आज से लाल बत्ती के इस्तेमाल पर रोक*

वीआईपी कल्चर खत्म करने के लिए मोदी सरकार ने 19 अप्रैल को बड़ा फैसला किया था. गाड़ियों पर लाल बत्ती के इस्तेमाल पर अंकुश लगाने के प्रस्ताव पर कैबिनेट ने मुहर लगा दी है. इसके तहत गाड़ियों में लाल बत्ती के इस्तेमाल पर आज से रोक होगी. कोई भी व्यक्ति या गाड़ी लाल बत्ती नही लगाएंगे. इसके लिए मोटर व्हीकल एक्ट में बदलाव किया गया है.

*आज से बिल्डरों पर नकेल कसने वाला RERA कानून लागू*

आज से देश भर में रियल इस्टेट से जुड़ा नया कानून (RERA) Real Estate Regulation and Development Act लागू होने जा रहा है. कानून के तहत बनने वाली नई अथॉरिटी सुनिश्चित करेगी कि खरीददारों के साथ बिल्डर मनमानी ना कर सके.

घर खरीदने के सपने में झांसे भी बहुत हैं. कभी प्रोजेक्ट अटक गया तो कभी झूठे वादे. कभी अवैध निर्माण तो कभी बिल्डरों की मनमानी. घर लेने वाला अक्सर इस मकड़जाल में उलझ जाते हैं. ऐसी परेशानियों से निजात की उम्मीद है Real Estate (Regulation and Development) Act जिसे रेरा भी कहते हैं.

*आज से बदल रहा है बच्चों को गोद लेने का प्रावधान*

आज से बच्चों को गोद लेने के प्रावधान में बदलाव किया जा रहा है. जिसके तहत अब बच्चों को गोद लेने वाले अभिभावक अपने पसंद से बच्चे का चुनाव नहीं कर पाएंगे. विनियामक संस्था कारा यानी चाइल्ड एडॉप्शन रिसोर्स अथॉरिटी अभिभावकों तीन नहीं बल्कि एक ही बच्चे का विकल्प देगी. ऐसे में अभिभावकों को या तो उसे गोद लेना होगा या फिर ठुकराना पड़ेगा.

*आज से रेस्तरां-होटल के शौचालयों का फ्री इस्तेमाल कर सकेंगी महिलाएं और बच्चे*

आज से फ्री में महिलाएं और बच्चे दक्षिणी दिल्ली नगर निगम (SDMC) के तहत आने वाले सभी रेस्तरां और होटल के शौचालयों का इस्तेमाल कर सकेंगे. इतना ही नहीं होटल और रेस्तरां के बाहर भी इस निर्देश को लगाना जरूरी होगा. ऐसा आदेश जारी करने वाला दक्षिणी दिल्ली देश का पहला स्थानीय निकाय बन गया है. प्रधानमंत्री के स्वच्छ भारत मिशन को सफल बनाने की दिशा में यह बड़ा कदम माना जा रहा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)