दिल्ली में कांग्रेस पार्टी के लिए सुनहरा अवसर

0
109

शान्ति स्वारूप तिवारी। नई दिल्ली।।

 

दिल्ली में कांग्रेस पार्टी के लिए सुनहरा अवसरदिल्ली में होने वाले सातों लोकसभा सीटों के लिए राजनीतिक पार्टियों ने अपने अपने उम्मीदवारों की घोषणा कर दी है | दिल्ली के लोग इस चुनाव को राष्ट्र की दो राजनीतिक पार्टियों में मुकाबला मान रहे हैं | तीसरे नंबर पर आम आदमी पार्टी भले ही इस बात का दावा कर रही है कि वह सात लोक सभा सीट जीतने के बाद दिल्ली को पूर्ण राज्य दिलवाने में फतह हासिल करेंगे | वास्तविकता यह है कि दिल्ली विधानसभा में आम आदमी पार्टी पूर्ण बहुमत में होने के बावजूद दिल्ली को पूर्ण राज्य दिलवाने में केंद्र में सरकार को चुनौती देने में असफल रही है | केंद्र में भारतीय जनता पार्टी की रणनीतियों की वजह से दिल्ली में व्यापारी वर्ग के सामने शिलिंग की सबसे बड़ी समस्या उभरकर आई लेकिन केजरीवाल सरकार ने इस मुद्दों को समस्या के तौर पर न देख कर व्यापारी वर्ग की अवहेलना की है | दिल्ली के लोगों ने केजरीवाल सरकार पर यह भी आरोप लगाया कि ट्रैफिक की समस्या के समाधान के लिए ऑड-इवन व्यवस्था शुरू की थी इस व्यवस्था के आड़ में बड़े घरानों के उद्योगपतियों को फायदा पहुंचाने के लिए कुबेर ओला कैब जैसी अनेक बड़ी कमर्शियल कंपनियों को फायदा पहुंचाने के चक्कर में दिल्ली के ऑटो रिक्शा चालकों पर की आजीविका पर लात मारने का काम किया है | दिल्ली के विधानसभा चुनाव में ऑटो रिक्शा चालकों ने बढ़-चढ़कर केजरीवाल सरकार का समर्थन किया था लेकिन सत्ता में आते ही सर्वप्रथम उनके अधिकारों पर हमला किया गया| केजरीवाल एवं मनीष सिसोदिया लगातार अपनी सरकार की तारीफ करते हुए बताते हैं कि उन्होंने शिक्षा एवं स्वास्थ्य पर बहुत अधिक ध्यान दिया है लेकिन जमीनी धरातल का मूल्यांकन किया जाए तो यह वादे खोखले नजर आते हैं | शिक्षा के क्षेत्र में नए किसी प्रकार के विश्वविद्यालय का निर्माण हुआ और न ही स्वास्थ्य के क्षेत्र में नई अस्पताल की नीवं रखी गई नहीं पूरे दिल्ली में इंटरनेट की सुविधा प्रदान करने वाली फ्री वाईफाई की व्यवस्था की गई | जिस तरह के वादे विधानसभा चुनावों के समय लोगों के मत को लुभाने के लिए किया गया था अधिकांश वादे घोषणा पत्र में सिमट कर रह गए हैं जमीनी था तल पर उनका कोई सरोकार नहीं रहा | केंद्र में भारतीय जनता पार्टी दिल्ली में आम आदमी पार्टी दोनों की आपसी दुश्मनी के चलते दिल्ली प्रदेश के लोगों को काफी नुकसान उठाना पड़ा है चाहे वह दिल्ली में सीलिंग का मामला हो जिसके चलते व्यापारी वर्ग को अनेक समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है | दिल्ली प्रदेश युवा कांग्रेस के सह- संयोजक डॉ अनिल कुमार ने बताया कि जब कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने जगह-जगह पर प्रचार प्रसार किया तो पाया की दिल्ली में अधिकांश जगह पानी की सबसे बड़ी समस्या है दिल्ली की गलियों में कांग्रेस के जमाने में बनी हुई सड़कों का अभी पुनर्निर्माण नहीं हुआ | लोगों ने बताया कि शीला दीक्षित जी की सरकार के समय दिल्ली में यातायात की समस्याओं के समाधान के लिए अनेक फ्लाईओवर का निर्माण कार्य हुआ था उसके बाद यह कार्य मानों रूक सा गया है | दिल्ली को प्रदूषण मुक्त बनाने के लिए शीला जी ने सीएनजी बसों को अधिक प्रोत्साहन दिया था उसके बाद प्रदूषण से मुक्ति दिलाने के लिए केंद्र एवं राज्य सरकार की तरफ से कोई प्रभावी कदम नहीं उठाया गया है | दिल्ली प्रदेश के लोगों ने केंद्र में भारतीय जनता पार्टी एवं दिल्ली में आम आदमी पार्टी की कार्यप्रणाली को देख लिया है जिस तरह की उम्मीद उन्होंने चुनाव से पहले इन पार्टियों से लगाई थी आज वह अपने आप को ठगे हुए महसूस कर रहे हैं | अब उन लोगों को शीला दीक्षित जी के जमाने में हुए विकास के कार्य काफी प्रभावित कर रहे हैं | इस कारण दिल्ली में कांग्रेस पार्टी के लिए सुनहरा अवसर है | इसीलिए कांग्रेस पार्टी ने सातों सीटों के लिए मजबूत प्रत्याशियों को मैदान में उतारा है ज़िनमें पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित को पार्टी ने उत्तर-पूर्वी दिल्ली से टिकट दिया है | दिल्ली कांग्रेस कमेटी के पूर्व अध्यक्ष अजय माकन को नयी दिल्ली, जेपी अग्रवाल को चांदनी चौक, राजेश लिलोठिया को उत्तर-पश्चिम दिल्ली, महाबल मिश्रा को पश्चिमी दिल्ली और अरविंदर सिंह लवली को पूर्वी दिल्ली से एवं बॉक्सिंग के क्षेत्र में विख्यात विजेंद्र सिंह को दक्षिणी दिल्ली से उम्मीदवार बनाया गया है | प्रियंका गांधी दिल्ली कांग्रेस कार्यकर्ताओं में जोश भरने के लिए लगातार सड़कों पर रोड शो कर रही है, जो कि कांग्रेस पार्टी के लिए एक संजीवनी का काम करेगा |

डॉ अनिल कुमार
सह-संयोजक
दिल्ली प्रदेश युवा कांग्रेस असिस्टेंट प्रोफेसर
दिल्ली विश्वविद्यालय

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)