गांव के विकास का पहिया है ग्राम प्रधान- हरेकृष्ण

0
165

अशोक कुमार झा।

लातेहार।  जिला मुख्यालय स्थित बहुदेशीय भवन में ग्राम प्रधानों का जिलास्तरीय एक दिवसीय सम्मेलन आयोजित की गई। सम्मेलन में मुख्य अतिथि के रूप में उपायुक्त राजीव कुमार एवं  विशिष्ठ अतिथि में मनिका विधायक हरेकृष्ण सिंह  ने शिरकत की। कार्यक्रम का उदघाटन उपायुक्त राजीव कुमार एवं मनिका विधाायक हरिकृष्ण सिंह ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्जवलित कर किया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उपायुक्त राजीव कुमार ने कहा कि संपूर्ण स्वराज का रीढ़ है गांव और आप उस गांव के प्रधान है तो निश्चित ही आपकी भूमिका अहम होगी। उन्होंने कहा कि सिर्फ विकास योजनाएं से ही गांव का विकास  नहीं सोचे बल्कि गांव में रहने वाले प्रत्येक व्यक्ति के विकास हो इस सोच के साथ कार्य करें। उन्होंने ग्राम प्रधानों को जागृत करते हुए कहा कि आप अपने हक के प्रति जागरूक हो ताकि केन्द्र एवं राज्य सरकार से संचालित योजना आपके गांव में उतर सके। उपायुक्त श्री कुमार ने ग्राम प्रधानों को शांति के साथ गांव का विकास करने की बात कही। इस दौरान उन्होंने ग्राम प्रधानों को गांव में जो भी योजना संचालित हो उसे पारदर्शिता के साथ जमीन पर उताने,अपने दायित्व का ईमानदारी निर्वहन करने की बात कही। मनिका विधायक हरिकृष्ण सिंह ने कहा कि गांव में ग्राम प्रधानों की भूमिका अहम भूमिका होती है। उन्होंने कहा कि गांव की परंपरा ध्वस्त होती जा रही थी। लेकिन मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास जी ने ग्राम  प्रधानों को उनका हक दिलाने का काम किया है। उन्होंने कहा कि सरकार की सोच है कि ग्राम प्रधान जब तक सशक्त नहीं होगा गांव का विकास संभव नहीं है। उन्होंने ग्राम प्रधानों को अपने हक के प्रति जागरूक हो कर गांव के विकास के लिए अहम भूमिका निभाए। सांसद प्रतिनिधि मुकेश पाण्डेय ने कहा कि वर्तमान सरकार ग्राम प्रधान को अधिकार देने के लिए क्रियाशील है। उन्होंने ग्राम प्रधानों को गांव के विकास कर अंतिम व्यक्ति तक विकास की किरण पहुंचाने की बात कही।  अपर समाहर्ता नेलसम एयोन बागे ने विषय प्रवेश कराया एवं सरकार के द्वारा उनके विकास के लिए किए जा रहे कार्य को बारीकी से बताया। उन्होंने बताया कि जिले में कुल 717 ग्राम प्रधान है जिन्हें सरकार की ओर से एक हजार रूपये दिया जाएगा।  कार्यक्रम के दौरान एनडीसी दिलीप महतो ने भी ग्राम प्रधानों के हक एवं अधिकार के बारें में विस्तृत रूप से जानकारी दी। मौके पर जिला पंचायतीराज पदाधिकारी पुष्कर सिंह मुंडा,प्रखंड विकास पदाधिकारी दिनेश कुमार,गणेश रजक समेत अन्य गांव के ग्राम प्रधान मौजूद थे। कार्यक्रम का संचालन डीआरडीए के तकनीकि पदाधिकारी आशीष कुमार पाण्डेय के द्वारा किया गया।

ग्राम प्रधानों ने रखी अपनी बात

जिलास्तरीय ग्राम प्रधान सम्मेलन में ग्राम प्रधानों ने अपनी बात रखी। ग्राम प्रधानों के द्वारा अपना हक एवं अधिकार की माग की गई। इस दौरान हेरहंज प्रखंड के  ग्राम प्रधान नंदकिशोर  ने कहा कि गांव के विकास में ग्राम प्रधानों की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। उन्होंने अपने अधिकारियेां की मांग करते हुए कहा कि गांव के विकास की जो भी योजना बने ग्राम प्रधान से ही शुरू हो और ग्राम प्रधान पर ही खत्म हो। मनिका प्रखंड के भरत प्रसाद ने कहा कि मै 15 वर्ष से ग्राम प्रधान हूं। उन्होंने कहा कि ग्राम प्रधान को जो अधिकार है उसे अबतक ग्राम प्रधान नहीं समझ सके। वही ग्राम प्रधानों का अधिकार का हनन हो रहा है। उन्होंने  जिला प्रशासन से गांव में जो भी योजना बने उसमें उनकी भागदारी हो इसे सुनिश्चित कराया जाए। इस दौरान रामजीतन सिंह,रामेश्वर सिंह,रोबन उरांव समेत अन्य ग्राम प्रधानों ने अपनी बातों को रख अपने अधिकार की मांग की।

ग्राम प्रधानों को मिलेगी एक हजार की राशि

बहुदेशीय भवन में आयोजित जिलास्तरीय ग्राम प्रधान के लिए आयोजित  कार्यक्रम में उपायुक्त राजीव कुमार ने बताया कि जिले के प्रत्येक ग्राम प्रधानों को  सरकार द्वारा एक-एक हजार रूपये दिया जाना है। उन्होंने कहा कि ग्राम प्रधानों को राशि प्रदान करने के लिए 14 लाख की राशि आ गई है। इस दौरान दस ग्राम प्रधानों को सांकेतिक तौर पर दिए जाने वाली राशि का चेक उपायुक्त राजीव कुमार एवं मनिका विधायक हरिकृष्ण सिंह के द्वारा प्रदान किया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)